अफगानिस्तान छोड़ते ही अमेरिका ने तालिबान को दिया दुनिया का भरोसा जीतने का फॉर्मूला, जानें क्या

ब्लिंकन ने कहा, तालिबान अंतरराष्ट्रीय वैधता और समर्थन चाहता है। तालिबान प्रतिबद्धताओं और दायित्वों को पूरा करके ऐसा कर सकता है। इसके लिए उसे यात्रा की स्वतंत्रता देना होगा।

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन

अपने तय समय से पहले ही अमेरिका ने अफगानिस्तान छोड़ दिया है। इस बीच अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा है कि तालिबान को अंतर्राष्ट्रीय वैधता और समर्थन हासिल करना होगा। उन्होंने कहा कि समूह अपनी प्रतिबद्धताओं और दायित्वों को पूरा करके ऐसा कर सकता है।

अमेरिका ने मंगलवार तड़के अफगानिस्तान में अपना मिशन समाप्त करने के कुछ घंटे बाद ब्लिंकन ने राष्ट्र के नाम एक संबोधन में यह बात कही। ब्लिंकन ने कहा, तालिबान अंतरराष्ट्रीय वैधता और समर्थन चाहता है। तालिबान प्रतिबद्धताओं और दायित्वों को पूरा करके ऐसा कर सकता है। इसके लिए उसे यात्रा की स्वतंत्रता देना होगा।

उन्होंने कहा कि महिलाओं और अल्पसंख्यकों सहित अफगान लोगों के मूल अधिकारों का सम्मान करना, आतंकवाद विरोधी पर अपनी प्रतिबद्धताओं को कायम रखना, उन लोगों के खिलाफ प्रतिशोध की हिंसा नहीं करना जो अफगानिस्तान में रहना पसंद करते हैं, ऐसा करके तालिबान अच्छा कर सकता है।

उन्होंने कहा कि तालिबान को एक समावेशी सरकार बनाना होगा जो अफगान लोगों की जरूरतों को पूरा कर सके और उनकी आकांक्षाओं को प्रतिबिंबित कर सके। अमेरिका पिछले कुछ हफ्तों के दौरान रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए तालिबान के साथ जुड़ा हुआ है।

ब्लिंकन ने कहा कि हम उस नई अफगान सरकार के साथ काम कर सकते हैं जो उन हितों को सुरक्षित करने में मदद करता है- जिसमें मार्क फ़्रीरिच की सुरक्षित वापसी शामिल है। बता दें कि मार्क फ़्रीरिच एक अमेरिकी नागरिक है, जो पिछले साल की शुरुआत से इस क्षेत्र में बंधक बना हुआ है।

ब्लिंकन ने कहा, लेकिन हम इसे विश्वास के आधार पर नहीं करेंगे। हम जो भी कदम उठाएंगे, वह तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार के कहने पर नहीं बल्कि अपनी प्रतिबद्धताओं पर खरा उतरने के लिए होगा।

See also  अमेरिका ने लिया बदला, मारा गया काबुल ब्लास्ट का IS मास्टरमाइंड आतंकी