अमेरिका ने दी इस्लामिक स्टेट को चेतावनी, अफगान छोड़ा, दुश्मनों को नहीं

जो बाइडन ने आईएसआईएस-के को धमकाते हुए कहा कि जो लोग अमेरिका को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं, हम ऐसे लोगों को ढूंढकर मारेंगे और उन्हें इसकी कीमत भी चुकानी होगी।

अमेरिका इस्लामिक स्टेट

अफगानिस्तान से अमेरिका पूरी तरह से निकल चुका है। इसके बाद तालिबान ने जश्न मनाया। आसमानी फायरिंग की गई। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने मंगलवार को आईएसआईएस-के को चेतावनी दी और कहा कि अभी तक अमेरिका का बदला पूरा नहीं हुआ।

जो बाइडन ने आईएसआईएस-के को धमकाते हुए कहा कि जो लोग अमेरिका को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं, हम ऐसे लोगों को ढूंढकर मारेंगे और उन्हें इसकी कीमत भी चुकानी होगी।

बता दें कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ने देश को संबोधित करते हुए यह बातें कही। बीते दिनों काबुल एयरपोर्ट पर हमले में अमेरिका के 13 सैनिकों की मौत हो गई थी। जिसके बाद अमेरिका ने काबुल ब्लास्ट के साजिशकर्ता को मार गिराया था।

अफगानिस्तान से अमेरिकी फौजों की वापसी के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस मिशन को कामयाब बताया। उन्होंने यह भी कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी। बाइडन ने कहा कि हम अफगानिस्तान समेत दुनिया भर में आतंक के खिलाफ लड़ाई लड़ते रहेंगे। हालांकि उन्होंने किसी देश में आर्मी बेस नहीं बनाने की बात कही।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि मुझे यकीन है कि अफगानिस्तान से सेना बुलाने का फैसला, सबसे सही और बुद्धिमानीपूर्ण है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान युद्ध अब खत्म हो चुका है। मैं अमेरिका का चौथा राष्ट्रपति था, जो इस सवाल का सामना कर रहा था कि इस युद्ध को कैसे खत्म किया जाएगा। मैं लोगों से वादा किया था और अपने फैसले का सम्मान किया।

See also  तालिबानी कब्जे के बाद अफगानिस्तान से पैरालंपिक खिलाड़ियों को निकाला गया बाहर, सभी सुरक्षित