अमेरिका ने पाकिस्तान के चेताया, कहा- इमरान सरकार तालिबान को मान्यता देने की जल्दबाजी न करे

बाइडन प्रशासन ने पाकिस्‍तान के साथ रिश्‍तों की नए सिरे से समीक्षा करने का फैसला किया है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि समीक्षा से अमेरिका और पाकिस्‍तान के बीच संबंध और खराब हो सकते हैं।

पाकिस्तान अमेरिका संबंध

तालिबान और पाकिस्तान सरकार के रिश्तों के उजागर होने के बाद अमेरिका ने पाकिस्तान को सख्त चेतावनी दी है। अमेरिकी सरकार ने पाकिस्तान के चेतावनी देते हुए कहा है कि पाकिस्तान तालिबान सरकार को मान्यता देने की जल्दबाजी न करे।

इसके साथ ही बाइडन प्रशासन ने पाकिस्‍तान के साथ रिश्‍तों की नए सिरे से समीक्षा करने का फैसला किया है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि समीक्षा से अमेरिका और पाकिस्‍तान के बीच संबंध और खराब हो सकते हैं।

अगर ऐसा होता है तो यह तंग पाकिस्‍तान के लिए खतरे की घंटी होगी। बता दें कि पाकिस्तान पहले से ही वित्तिय संकट से जूझ रहा है। उनपर अरबों डॉलर का कर्ज है। अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने अमेरिकी सदन में इस बात की जानकारी है।

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि तालिबान शासित सरकार को मान्‍यता या कोई मदद चाहिए तो उसे अंतरराष्‍ट्रीय बिरादरी की अपेक्षाओं पर खरा उतरना होगा। अमेरिका ने साथ ही पाकिस्तान को भी आगाह करते हुए कहा कि वह तालिबान को मान्‍यता देने में जल्‍दबाजी नहीं दिखाए।

अमेरिकी सांसदों ने पाकिस्‍तान के दोगले रवैये को लेकर उस पर कड़ी कार्रवाई की मांग भी की है। सीनेट के कुछ सदस्यों ने उसका गैर-नाटो सहयोगी के तौर पर दर्जा खत्म करने की अपील की है। पाकिस्तान ने इससे मिलने वाली वित्तीय मदद भी रोकने को कहा है।

See also  विदेश यात्रियों के लिए अपनी सीमाएं खोलेगा अमेरिका, लेकिन यह शर्त करनी होगी पूरी