Cyclone Gulab: अब भारत में दूसरे तूफान का कहर, आंध्र प्रदेश में चक्रवाती तूफ़ान गुलाब ने दी दस्‍तक

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, बंगाल की खाड़ी के उत्तर और मध्य हिस्से पर बना गहरे दबाव वाले क्षेत्र में 14 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिम की ओर बढ़ा है तूफ़ान गुलाब।

बंगाल के खाड़ी के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र शनिवार को चक्रवाती तूफ़ान गुलाब में तब्दील हो गया है, इस तूफ़ान का नाम पाकिस्तान ने गुलाब रखा है। मौसम विभाग के मुताबिक ये तूफ़ान आज शाम तट से टकराएगा, इस दौरान हवा की रफ़्तार 85 km/h तक रह सकती है।

उत्तरी आँध्र प्रदेश और उससे लगे दक्षिण ओडिशा के तटीय इलाके के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी कर दी गयी है, इन इलाको में भरी बारिश हो सकती है।

भारी तूफ़ान के चलते मछुआरों को समुन्द्र में ना जाने की सलाह भी दी गयी है। वही ओडिशा के निचले इलाको से लोगो को सुरक्षित पहुँचाने का आदेश भी दिया गया है।

मौसम में इससे पहले अब तक 2 चक्रवाती तूफ़ान बन चुके है, पहला चक्रवात ताउते अरब सागर में बना था, जबकि दूसरा चक्रवात यात 23 और 28 मई के आस पास बंगाल की खाड़ी में बना था।

तो आइये एक नजर डालते हे की चक्रवाती तूफ़ान गुलाब इस वक़्त कहा है, और ओडिशा और आंध्रा के किन इलाको में नुक्सान पहुँच सकता है।

फिलहाल कहा पहुँच है तूफ़ान ?

25 सितम्बर के शाम मिली जानकारी के अनुसार बंगाल के खाड़ी के उत्तर पश्चिम और आस पास के छेत्रो में केंद्रित है। ओडिशा के गोपाल पुर से फिलहाल ये पूर्व दक्षिण-पूर्व में लगभग 330 km दूर है, आंध्रप्रदेश के कलिंग पट्टनम से इनकी दूरी 400 km पूर्व है।

कब होगा लैंडफॉल ?

आज शाम ये तट से टकरा सकता है, इसके लगभग पश्चिम की और उत्तर आंध्रा को पार करने की सम्भावना है। कहा जाता है की ये गोलपुर और कलिंगपट्टनम के बिच तट से टकरा सकता है।

See also  देश में 100 करोड़ टीकाकरण के अवसर पीएम मोदी ने किया देश को संबोधित, कहा...

हवा की रफ़्तार

बंगाल के खाड़ी के पश्चिम में पिछले 6 घंटे के दौरान तूफ़ान की रफ़्तार 6 km/h रही है, लैंडफॉल के दौरान हवा की रफ़्तार 85 km/h तक पहुँच सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक़ तूफ़ान की समुद्री यात्रा कम होने के चलते हवा की रफ़्तार ज्यादा तेज़ नहीं होगी।

इन इलाको में चलेगी हवा

आँध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम, विजयनगरम, विशाखापत्तनम जिले और दक्षिण ओडिशा तट (गंजम, गजपति जिले) में 55-65 km/h के रफ़्तार से हवा चल सकती है। पुरी, रायगड़ा और कोटपुट जिले भी इसकी चपेट में आएँगे। ओडिशा के मलकानगिरी जिले में तेज़ हवा की गति 40-50 km/h के रफ़्तार से चलेगी। इसके अलावा कई इलाको में हवा की रफ़्तार 85 km/h रहेगी।

इन इलाको में होगी भारी बारिश

स्काईमेट वेदर के मुताबिक़ अगले 24 से 48 घंटो के दौरान दक्षिण ओडिशा और उत्तरी आंध्रा प्रदेश में अलग अलग स्थानों पार मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। ओडिशा के सबसे आधीक प्रभावित जिले केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर, कटक, भुवनेश्वर, खोरधा, पुरी, गंजम, गजपति, कंधमाल, और रायगढ़, हो सकते है।

ओडिशा आपदा त्वरित कार्य बल (ODRAF) के 42 दलों और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल के 24 दलों के साथ दमकल कर्मियों को 7 ज़िलों गजपति, गंजम, रायगढ़, कोरापुट, मल्कानगिरी, नबरंगपुर, कंधमाल भेजा गया है।