क्या आप भी बाल झड़ने की समस्या से परेशान है? जल्द शुरु करे ये घरेलु उपाय, नहीं झड़ेंगे बाल

बाल झड़ने की समस्या को कई लोग गंभीरता से नहीं लेते, और जब बाल तेजी से झड़ने लगते हैं तो दो-चार नुस्खे आजमा कर बंद कर देते है। लेकिन कोई भी इलाज सिर्फ कुछ दिनों में फायदा नहीं करता। हम बताते है कुछ घरेलु इलाज, जिससे आपके बालो के झड़ने से रोकने में काफी मदद मिलेगी।

आज कल लोगों की जीवनशैली में बालों का झड़ना (Hair Fall) एक आम समस्या बन गई है| महिला हो या पुरुष, युवा हो या बुजुर्ग, हर कोई बाल झड़ने की समस्या से परेशान है. इसके कई कारण हो सकते हैं| लंबी बीमारी, शारीरिक व मानसिक तनाव, दवाइयों के साइड इफेक्ट्स या पोषण में किसी चीज की कमी|

इसके अलावा बालों के झड़ने के कई और कारक हो सकते हैं, जैसे की पर्यावरण के प्रभाव, उम्र का बढ़ना, बहुत अधिक तनाव, शरीर में पोषक तत्वों की कमी, हार्मोनल असंतुलन, गलत या रासायनिक समृद्ध बाल उत्पादों का सेवन, कुछ दवाओं का साइड इफ़ेक्ट, पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCO), आयरन की कमी से एनीमिया, या पुरानी बीमारियां आदि।

तो बाल झड़ने से कैसे रोके – (Hair Fall Treatment)

वैसे दिन में 40-50 बालो का झड़ना नार्मल सी बात है, लेकिन आपके बाल ज्यादा मात्रा में लगातार झड़ रहे है तो आपको इसे गंभीरता से लेने की जरुरत है| बहुत से लोग बाल झड़ने को गंभीरता से नहीं लेते हैं और जब बाल तेजी से झड़ने लगते हैं तो दो-चार घरेलु नुस्खे आजमा कर बंद कर देते हैं। लेकिन कोई भी इलाज लबे समय तक करे तो ज्यादा कारगर साबित होता है।

इलाज से पहले ज़रूरी है की आप अपने हेयर टाइप को जाने। हम जो बताने जा रहे हैं, वह आपके झड़ते बालों को रोकने में काफी काम आ सकता है।

इन घरेलू उपायों से बालो का झड़ना रोके – (Home Remedies For Hair Fall)

हमारे देश में वषों से बालों को झड़ने से रोकने के लिए कई घरेलू नुस्खे इस्तेमाल किए जाते हैं। हम आपको कुछ ऐसे नुस्खे बताने जा रहे हैं, जिन्हें आजमाना किफायती और आसान भी है।

See also  Chaitra Navratri 3rd Day: मां चंद्रघंटा देवी पूजा और आरती विधि

1. आंवला

हम सभी जानते है की आंवला में भरपूर मात्रा में विटामिन C पाए जाते है, इसलिए आंवला को बालों के विकास और खूबसूरती बढ़ाने में एक पारंपरिक हेयर टॉनिक भी माना जाता है। आंवला के तेल बालों को मजबूत बनता है और उनकी ग्रोथ को तेज करता है।

उपयोग का तरीका

आंवला को काटकर अच्छी तरह धूप में सुखा लें। अब कुछ टुकड़ों को नारियल तेल में डालकर अच्छे से उबाल लें। इस तेल को अच्छी तरह ठंडा होने दें, ठंडा होने के बाद इसे स्टोर कर के रख लें और बालों में लगातर लगाएं। इससे बाल काले भी होंगे| आंवले के सूखे टुकड़ों को रात भर पानी में भिगा कर अगली सुबह पानी को बालों की जड़ों में लगाएं। इससे भी बालों को पोषण मिलता है।

2. मेथी

मेथी सभी घरो के किचन में आसानी से मिल जाते है। इन्हे झड़ते बाल रोकने में इस्तेमाल किया जाता है।

उपयोग का तरीका

एक या दो चम्मच मेथी के दानों को रात भर के लिए भिगो दें।इसे सुबह पीसकर बालों की जड़ों में लगाएं। एक घंटे बाद बालों को अच्छी तरह से धो लें। सप्ताह में दो से तीन बार ऐसा जरूर करें, बालों का गिरना बंद हो जाता है।

3. तेल से मालिश (आयल मस्सगे)

जैसे त्वचा में नमी बनाए रखने के लिए उसकी मसाज या मालिश बहुत जरूरी है। वैसे ही जरूरत हमारे बालों और स्कैल्प को भी होती है। बालो को जड़ से मजबूत बनाने के साथ स्कैल्प में नमी बनाए रखने के लिए सिर में तेल की मालिश बहुत जरुरी है, इससे आपके बाल भी जड़ से मजबूत होती हैं। इससे रक्त का संचार और बालों की ग्रोथ तेज होती है और साथ ही डैंड्रफ से भी छुटकारा मिलता है।

See also  मृत शरीर जलाना अर्थपूर्ण

उपयोग का तरीका

आमतौर पर बालों और सिर की मालिश के लिए सरसों, नारियल या जैतून के तेल का इस्तेमाल किया जाता है। गर्मियों में नारियल के तेल से मालिश को प्रमुखता दें। गर्मियों में सरसों और जैतून के तेल का उपयोग उसे हल्का गर्म करके करें। ध्यान रखे की बालों को खींचे नहीं, मालिश हल्के हाथों से करें। बाल को खींचने से वह टूट जाएंगे। इसे सप्ताह में करीब दो दिन सिर की मालिश करें।

4. प्याज का रस (Onion Juice)

प्याज के रस का उपयोग एलोपेसिया एरेटा (Alopecia Areata) में लाभकारी हो सकता है। एक शोध के अनुसार स्कैल्प पर कच्चे प्याज के रस का उपयोग बालों के दोबारा ग्रोथ में उपयोगी है।

उपयोग का तरीका

प्याज को छील के उसे मिक्सी में पीस लें। अब इसे छलनी से अच्छे से छान लें। इस मिश्रण को कॉटन की मदद से बालों की जड़ों में लगाएं।

अगर आप डैंड्रफ से परेशान हैं, तो प्याज के रस में नींबू का रस मिलाकर लगऐ, इससे काफी फायदा होगा। सप्ताह में करीब दो दिन इसे आजमा सकते हैं। बचे हुए मिश्रण को कांच के बर्तन में भरकर फ्रिज में स्टोर कर लें।

5. शिकाकाई

भारत में प्राचीन काल से बालों की देखभाल के लिए शिकाकाई का उपयोग पारंपरिक रूप से किया जाता रहा है। यह आयुर्वेदिक औषधी के रूप में प्रचलित है। इसे तैयार करने के लिए पौधे की फलियों, पत्तियों तथा इसके छाल को सुखाया जाता है फिर उसका पाउडर या पेस्ट बनाया जाता है। इसे एक अच्छा क्लींजर माना जाता है। यह प्राकृतिक रूप से कम पीएच वाला होता है, और बालों से तेल को नहीं खींचता।

See also  घर के किस कोने में रखना चाहिए तुलसी, जानिए तुलसी से जुड़ी जरूरी बातें

उपयोग का तरीका

तेल, शैंपू तथा कंडिशनर के रूप में शिकाकाई को बालों में लगाया जाता है। आंवला और रीठा के साथ मिलाकर भी इसे इस्तेमाल किया जाता है। किसी भी हेयर ऑयल, दही या अंडे में मिलाकर शिकाकाई पाउडर को बालों में लगा सकते हैं। इससे बाल झड़ना तो कम होगा ही साथ साथ बाल काले, घने और लम्बे भी होंगे|