कैप्टन अमरिंदर के कांग्रेस छोड़ने के ऐलान से चन्नी सरकार को खतरा! नेताओं में चिंता की लहर

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के कांग्रेस को छोड़ने के ऐलान के बाद पंजाब के नेताओं में चिंता की लहर है। कई वरिष्ठ नेताओं को चरणजीत सिंह सरकार के लिए भी खतरे का अंदेशा है।

कांग्रेस से अमरिंदर का मोहभंग

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के कांग्रेस को छोड़ने के ऐलान के बाद पंजाब के नेताओं में चिंता की लहर है। कई वरिष्ठ नेताओं को चरणजीत सिंह सरकार के लिए भी खतरे का अंदेशा है। इनका मानना है कि कहीं कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ दो दर्जन विधायक न चले जाएं। यदि ऐसी नौबत आती है तो पंजाब में सरकार गिर सकती है।

बताया जाता है कि इस बात को लेकर कई विधायकों ने सीनियर मंत्रियों के साथ बैठकें की हैं। साथ ही कैप्टन अमरिंदर के समर्थक और उनसे जुड़ने वाले संभावित विधायकों पर भी नजर रखी जा रही है।

एक सीनियर विधायक ने कहा कि सरकार के कार्यकाल में कुछ महीने का ही कम समय बचा है और अगर कैप्टन ऐसा कदम उठाते हैं तो पार्टी एक बार फिर से चुनाव में जाने के लिए तैयार है।

ट्विटर प्रोफाइल से कांग्रेस का नाम हटाया

पूर्व मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने अपने ट्विटर प्रोफाइल से कांग्रेस का नाम हटा दिया है। इस तरह कांग्रेस से अपना लंबा रिश्‍ता तोड़ने की ओर कदम बढ़ा दिया है।

बता दें कि दिल्ली से लौटने के बाद चंडीगढ़ अंतरराष्‍ट्रीशय एयरपोर्ट पर मीडिया से बातचीत करते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने फिर कहा कि वह कांग्रेस को छोड़ रहे हैं लेकिन भाजपा में नहीं जा रहे हैं।

हालांकि कैप्टन ने यह बताने से इन्कार कर दिया कि उनके साथ कितने विधायक जा रहे हैं। उन्होंने इतना अवश्य कहा कि जब कोई सत्तारूढ़ पार्टी बहुमत खो देती है तो फ्लोर टेस्ट करवाना स्पीकर का काम होता है।

See also  पंजाब में कांग्रेस को झटका, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिया इस्तीफा, कहा- खुले हैं सभी विकल्प