महंत नरेंद्र गिरि की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए सीबीआई ने 6 सदस्यों की टीम बनाई

महंत की कथित मौत मामले में सीबीआई ने एफ आई आर दर्ज कर ली है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा साक्ष्य और प्रयागराज पुलिस द्वारा दर्ज किए गए बयानों से संबंधित सभी दस्तावेज अपने कंट्रोल में लेगी।

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत हत्या थी या आत्महत्या यह सवाल अभी भी बनी हुई है। यूपी सरकार द्वारा सीबीआई जांच की सिफारिश के बाद जांच एजेंसी ने नरेंद्र गिरी की मौत से जुड़े तथ्यों की जांच के लिए कमर कस ली है।

सीबीआई महंत नरेंद्र गिरि की कथित मौत मामले को समझाने की कोशिश करेगी। एजेंसी ने इसके लिए 6 सदस्यों वाली टीम गठित की है। सीबीआई द्वारा गठित टीम प्रयागराज के लिए रवाना हो चुकी है।

महंत की कथित मौत मामले में सीबीआई ने एफ आई आर दर्ज कर ली है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा साक्ष्य और प्रयागराज पुलिस द्वारा दर्ज किए गए बयानों से संबंधित सभी दस्तावेज अपने कंट्रोल में लेगी। बता दें कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि कि बीते दिनों मौत हो गई थी। अभी तक महंत की मौत को आत्महत्या करार दिया जा रहा है।

हालांकि उनके अन्य शिष्यों द्वारा हत्या की आशंका व्यक्त किए जाने के बाद योगी सरकार ने इसे सीबीआई को जांच के लिए सौंप दिया है। दरअसल, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कहा था कि महंत नरेंद्र गिरि की मौत से पर्दा उठाया जाएगा और यदि कोई जिम्मेदार होगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

अखाड़ा परिषद के महंत हरी गिरी ने कहा था कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मामले से जुड़े घटनाक्रम पर नजर रख रहे हैं। उनके बयान के कुछ घंटों बाद ही यूपी सरकार ने देर रात सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी। अब सीबीआई की टीम प्रयागराज में महंत नरेंद्र गिरि की मौत से जुड़े राशियों को उजागर करने के लिए छानबीन करेगी।

See also  अब सीबीआई पर कसेगा शिकंजा, सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- कितनों को दिलवाई सजा, सब बताओ