Corona Update : विशेषज्ञ समिति ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों को वयस्कों के समान ही होगा जोखिम, विशेषज्ञों ने दिए बचाव के लिए ये सुझाव

गृह मंत्रालय की रिपोर्ट में कहा गया है कि सितम्बर और अक्टूबर में तीसरी लहर अपने चरम पर होगी कोरोना वायरस। तीसरी लहर की चेतावनियों से लोगों की चिंता बढ़ी |

भारत में कोरोना

Corona Update : कोरोना वायरस की तीसरी लहर की चेतावनियों ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है. गृह मंत्रालय की रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में सितंबर और अक्टूबर के बीच कभी भी कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। सितम्बर और अक्टूबर में तीसरी लहर अपने चरम पर होग। इसके साथ ही रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में सिर्फ 7.6 फीसदी (10.4 करोड़) लोगों का ही पूर्ण टीकाकरण किया गया ह।

इसके साथ ही समिति ने टीकाकरण की रफ्तार को तेज करने का सुझाव भी दिया है। अगर वर्तमान टीकाकरण दर में वृद्धि नहीं की गई तो भारत में महामारी की अगली लहर में भयावह रूप देखने को मिल सकते है।

रिपोर्ट कहती है, विशेषज्ञों ने बार-बार भारत में कोविड-19 की तीसरी लहर की चेतावनी दी है। महामारी विशेषज्ञों ने आशंका व्यक्त की है कि जबतक हममें टीकाकरण या संक्रमण के जरिए व्यापक रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित नहीं हो जाती, तबतक मामले बढ़ते रहेंग।

NIDM की रिपोर्ट में IIT कानपुर के विशेषज्ञों के अनुमान का हवाला दिया गया है जो तीसरी लहर को लेकर तीन संभावित परिदृश्यों का सुझाव देता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, अगर 67 फीसद आबादी में वायरस के खिलाफ रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो जाती है चाहे वह वायरस के जरिये या टीकाकरण के जरिये, तो बड़े पैमाने पर हर्ड इम्युनिटी का लक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है।

See also  भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का बना अदभुत रिकॉर्ड, 100 करोड़ का आंकड़ा किया पार