घर-घर पिज्जा पहुंचा रहे अफगानिस्तान के पूर्व मंत्री, कभी थे सत्ता के शिखर पर

जर्मन मीडिया की खबरों के मुताबिक, सादत अब जर्मनी के 'लीफरांदो नेटवर्क' के लिए काम कर रहे हैं और वह जर्मनी के लिपजिग शहर में साइकल से लोगों को पिज्जा पहुंचाते हैं।

अफगानिस्तान के पूर्व आईटी मंत्री सैयद अहमद शाह सादत

अफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा होते ही वहां के आम लोगों के साथ-साथ खास लोग भी मुसीबतों में हैं। कभी सत्ता के शिखर पर बैठे राजनेता आज देश छोड़ने को मजबूर हैं। राष्ट्रपति अशरफ गनी भी फिलहाल यूएई की शरण में हैं।

अफगानिस्तान के पूर्व संचार मंत्री, जो कभी सत्ता के शिखर पर थे, आज जर्मनी की सड़कों पर पिज्जा डिलिवरी करने का काम रहे हैं। अल जजीरा अरबी ने अपने ट्विटर हैंडल से अफगानिस्तान के पूर्व आईटी मंत्री सैयद अहमद शाह सादत की तस्वीरें ट्वीट की हैं और बताया है कि वह अब जर्मनी में फूड डिलिवरी का काम कर रहे हैं।

सादत की तस्वीरें अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। जर्मन मीडिया की खबरों के मुताबिक, सादत अब जर्मनी के ‘लीफरांदो नेटवर्क’ के लिए काम कर रहे हैं और वह जर्मनी के लिपजिग शहर में साइकल से लोगों को पिज्जा पहुंचाते हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सादत ने बीते साल ही अफगान कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था। वह साल 2018 से कैबिनेट मंत्री थे लेकिन अफगानिस्तान की गनी सरकार में उनकी खास नहीं बनी और फिर साल 2020 में उन्हें मजबूरन इस्तीफा देना पड़ा। इस्तीफे के बाद वह जर्मनी चले गए।

इससे पहले सादत 2005 से 2013 तक अफगानिस्तान में संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री के मुख्य तकनीकी सलाहकार सहित कई महत्वपूर्ण पदों पर काम कर चुके हैं। वे 2016-2017 तक एरियाना टेलीकॉम के सीईओ पद पर भी रह चुके हैं।

See also  विदेश यात्रियों के लिए अपनी सीमाएं खोलेगा अमेरिका, लेकिन यह शर्त करनी होगी पूरी