अब बच्चों को भी लगेगा कोरोना वैक्सीन, सरकार ने कोवैक्सीन को दी मंजूरी

सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन की मंजूरी दे दी है। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया अपने देश में 2 से 18 साल के बच्चों के लिए कोवैक्सिंग की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दी है।

बच्चों को वैक्सीन की मंजूरी

देश में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका विशेषज्ञों द्वारा व्यक्त की जा रही है। इस बीच सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन की मंजूरी दे दी है। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया अपने देश में 2 से 18 साल के बच्चों के लिए कोवैक्सिंग की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दी है।

सरकार की तरफ से इस वैक्सीन को लेकर जल्द ही गाइडलाइन जारी किया जाएगा। बच्चों को भी कोरोना वैक्सीन की दो डोज दी जाएगी। हालांकि केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री भारती प्रवीण पवार ने कहा है कि अभी इस पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि कुछ कंफ्यूजन सामने आ रही है। अभी डीजीसीआई की भी मंजूरी नहीं मिली है। एक्सपर्ट डिसीजन लेंगे उसके बाद वैक्सीन आएगी।

बता दें कि इससे पहले जायडस कैडिला की corona vaccine ZyCov-D को भारत में इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिली थी। इस वैक्सीन को 12 साल के बच्चों और बड़ों को लगाई जा सकेगी। भारत में बनी यह दुनिया की पहली डीएनए वेस्ट वैक्सीन थी। देश में अभी कोविशील्ड, कोवैक्सीन और स्पूतनिक-वी वैक्सिंग को 18 साल से ऊपर के लोगों को लगाई जा रही है।

इन सभी वैक्सीन की भी 2-2 खुराक लोगों को दी जा रही हैं। मेदांता हॉस्पिटल के चेयरमैन नरेश त्रेहन ने कहा है कि बच्चों की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिलना बहुत बड़ी खबर है। उनके अनुसार महामारी की तीसरी लहर में बच्चों पर सबसे ज्यादा खतरा बताया जा रहा है। वैक्सीन को मंजूरी मिलने से बच्चों को प्रोटेक्शन मिलेगी। बच्चों के साथ ही यह सुरक्षा चक्र बुजुर्गों को भी मजबूत बनाएगा।

See also  दिल्ली में शराब होगी सस्ती लेकिन नींद उड़ी यूपी अधिकारियों की जानें क्या है माजरा

उन्होंने कहा कि यह इस बात पर निर्भर रहेगा कि यह वैक्सीन बच्चों में एंटीबॉडी कितना बनाती है। जिन लोगों को वैक्सिंग लगने के बाद भी एंटीबॉडी काफी गिर जाती है उन्हें बूस्टर डोज की जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि एक्स्पर्ट की कमेटी बूस्टर डोज पर भी विचार कर रही है।