पीएम मोदी ने लॉन्च किया जल जीवन मिशन एप, पीएम ने पानी को लेकर क्या कहा

पीएम मोदी ने कहा कि पूज्य बापू और लाल बहादुर शास्त्री जी इन दोनों महान व्यक्तित्वों के हृदय में भारत के गांव ही बसे थे। मुझे खुशी है कि आज के दिन देशभर के लाखों गांवों के लोग ‘ग्राम सभाओं’ के रूप में जल जीवन संवाद कर रहे हैं।

जल जीवन मिशन एप

राष्ट्रपति महात्मा गांधी जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जल जीवन मिशन एप लॉन्च किया। इस दौरान उन्होंने जल जीवन कोष यानी राष्ट्रीय जल कोष को भी लॉन्च किया। इस दौरान पीएम मोदी ने जल जीवन मिशन के लाभार्थियों से बातचीत भी की। पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, उत्तराखंड, मणिपुर और गुजरात सहित देश के पांच राज्यों में जल जीवन मिशन के लाभर्थियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े।

पीएम मोदी का पूरा संबोधन

पीएम मोदी ने कहा कि पूज्य बापू और लाल बहादुर शास्त्री जी इन दोनों महान व्यक्तित्वों के हृदय में भारत के गांव ही बसे थे। मुझे खुशी है कि आज के दिन देशभर के लाखों गांवों के लोग ‘ग्राम सभाओं’ के रूप में जल जीवन संवाद कर रहे हैं।

‘जल जीवन मिशन का विजन, सिर्फ लोगों तक पानी पहुंचाने का ही नहीं है। ये Decentralisation का- विकेंद्रीकरण का भी बहुत बड़ा Movement है। ये Village Driven- Women Driven Movement है। इसका मुख्य आधार, जनआंदोलन और जनभागीदारी है।’

उन्होंने कहा कि गांधी जी कहते थे कि ग्राम स्वराज का वास्तविक अर्थ आत्मबल से परिपूर्ण होना है। इसलिए मेरा निरंतर प्रयास रहा है कि ग्राम स्वराज की ये सोच, सिद्धियों की तरफ आगे बढ़े।

पानी के बारे में विस्तार से बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमने बहुत सी ऐसी फिल्में देखी हैं, कहानियां पढ़ी हैं, कविताएं पढ़ी हैं जिनमें विस्तार से ये बताया जाता है कि कैसे गांव की महिलाएं और बच्चे पानी लाने के लिए मीलों दूर चलकर जा रहे हैं।कुछ लोगों के मन में, गांव का नाम लेते ही यही तस्वीर उभरती है।

See also  अंततः "रावण" चला गया।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि लेकिन बहुत कम ही लोगों के मन में ये सवाल उठता है कि आखिर इन लोगों को हर रोज किसी नदी या तालाब तक क्यों जाना पड़ता है, आखिर क्यों नहीं पानी इन लोगों तक पहुंचता? मैं समझता हूं, जिन लोगों पर लंबे समय तक नीति-निर्धारण की जिम्मेदारी थी, उन्हें ये सवाल खुद से जरूर पूछना चाहिए था।

पीएम मोदी ने कहा कि आजादी से लेकर 2019 तक हमारे देश में सिर्फ 3 करोड़ घरों तक ही नल से जल पहुंचता था। 2019 में जल जीवन मिशन शुरू होने के बाद से, 5 करोड़ घरों को पानी के कनेक्शन से जोड़ा गया है। आज देश के लगभग 80 जिलों के करीब सवा लाख गांवों के हर घर में नल से जल पहुंच रहा है।

इस मौके पर पीएम मोदी ने वीडिया कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जल जीवन मिशन के 2 वर्ष ई-पुस्तिका का विमोचन भी किया।