प्रशांत किशोर बनाएंगे खुद की पार्टी, बिहार से करेंगे शुरुआत, कहा- जनता के बीच जाने का समय आ गया है

प्रशांत किशोर अब अपनी पार्टी के लिए रणनीति तैयार करेंगे। अब उन्होंने खुद की पार्टी बनाने का ऐलान किया है। उन्होंने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि जनता के बीच जाने का समय आ गया है।

भाजपा, कांग्रेस और फिर जदयू समेत विभिन्न राजनीतिक दलों के चुनावी रणनीतिकार रह चुके प्रशांत किशोर अब दूसरों के लिए पार्टी के लिए रणनीति नहीं बनाएंगे। PK अब अपनी पार्टी के लिए रणनीति तैयार करेंगे। उन्होंने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि जनता के बीच जाने का समय आ गया है। इसकी शुरुआत बिहार से होगी।

पीके की नई पार्टी कब लॉन्च होगी, इसका खुलासा अभी नहीं हुआ है, लेकिन प्रशांत किशोर जल्द ही पूरे देश में एक नई पार्टी ले के आएँगे। खास बात यह है कि पीके अभी पटना में है। ऐसे में माना जा रहा है कि वे यहां अपने लिए नई रणनीति तैयार कर रहे हैं।

प्रशांत किशोर ने एक ट्वीट में कहा, “लोकतंत्र में प्रभावशाली योगदान देने और लोगों के प्रति कार्रवाई की नीतियां बनाने में मदद करने की उनकी भूख में उतार-चढ़ाव आया है। आज जब वह पन्ने पलटते हैं तो लगता है कि समय आ गया है।” असली मालिकों के बीच जाने के लिए, यानी लोगों के बीच। ताकि वे उनकी समस्याओं को बेहतर ढंग से समझ सकें और ‘जन सूरज’ के रास्ते पर चल सकें।”

प्रशांत किशोर का जन्म 1977 में बिहार के बक्सर जिले में हुआ था। उनकी मां उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से हैं, जबकि उनके पिता बिहार सरकार में डॉक्टर हैं। उनकी पत्नी का नाम जाह्नवी दास है, जो असम के गुवाहाटी में डॉक्टर हैं। प्रशांत किशोर और जाह्नवी का एक बेटा है।

See also  पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत बोले- किसानों के लिए अपना गला कटवा दूंगा

पीके के राजनीतिक करियर की बात करें तो वह 2014 में मोदी सरकार को सत्ता में लाने के कारण सुर्खियों में आए थे। उन्हें एक बेहतरीन चुनावी रणनीतिकार के रूप में जाना जाता है। वह अपनी चुनावी रणनीति को अंजाम देने के लिए हमेशा पर्दे के पीछे रहे हैं।