Gandhi Jayanti 2021: राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने महात्मा गांधी और लाल बहादूर शास्त्री को श्रद्धांजलि अर्पित की

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द, उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस नेता सोनिया गांधी सहित तमाम नेताओं ने आज राजघाट पहुंच कर महात्मा गांधी को पुष्प अर्पित कर नमन किया।

महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की आज जयंती पूरे देश में धूमधाम से मनाई जा रही है। इस अवसर पर देश में लोगों द्वारा दोनों नेताओं को याद किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित तमाम नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द, उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस नेता सोनिया गांधी सहित तमाम नेताओं ने आज राजघाट पहुंच कर महात्मा गांधी को पुष्प अर्पित कर नमन किया।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लिखा, महात्मा गांधी के महान सिद्धांत विश्व स्तर पर प्रासंगिक हैं और लाखों लोगों को ताकत देते हैं। गांधी जयंती पर मैं आदरणीय बापू को नमन करता हूं।

दूसरे ट्वीट में लाल बहादुर शास्त्री के जयंती पर श्रद्धांजलि देते हुए पीएम मोदी ने लिखा, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी को उनकी जयंती पर शत-शत नमन। मूल्यों और सिद्धांतों पर आधारित उनका जीवन देशवासियों के लिए हमेशा प्रेरणास्रोत बना रहेगा।

भारत भर में लोग प्रार्थना सेवाओं और श्रद्धांजलि के माध्यम से गांधी जयंती मनाते हैं। इसी तरह के आयोजन नई दिल्ली के राज घाट पर भी होते हैं, जो महात्मा का स्मारक है। पिछले साल, प्रधान मंत्री मोदी, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने राज घाट पर गांधी को श्रद्धांजलि दी थी। मोदी को स्मारक में गांधी समाधि पर माल्यार्पण और पूजा-अर्चना करते देखा गया।

See also  सूरत की फैक्ट्री में भीषण आग, दो की मौत, 125 मजदूर बचाए गए

लाल बहादुर शास्त्री 1964-66 तक भारत के दूसरे प्रधान मंत्री थे और इससे पहले जवाहरलाल नेहरू के मंत्रिमंडल में प्रमुख पदों पर रहे। वह महात्मा गांधी के साथ भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में एक प्रमुख व्यक्ति थे। शास्त्री को एक धर्मनिरपेक्षतावादी माना जाता था जिन्होंने राजनीति और धर्म के मिश्रण को खारिज कर दिया था। उन्होंने 1965 में पाकिस्तान के साथ युद्ध के दौरान भारत का नेतृत्व किया और ‘जय जवान जय किसान’ के नारे के लिए जाने जाते हैं।