रेलवे ने कोरोना गाइडलाइन को 6 महीने के लिए और बढ़ाया, उल्लंघन पर लगेगा भारी जुर्माना

रेलवे ने एक आदेश में कहा है कि मास्क नहीं लगाने वाले लोगों पर जुर्माना लगाने के निर्देश को 6 महीने के लिए बढ़ा दिया गया है। बोर्ड ने 17 अप्रैल को एक आदेश जारी करके सभी जनों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि लोग ट्रेन समेत रेलवे परिसरों में भी मास्क लगाएं और चेहरे को ढके।

Indian railway current guideline

त्योहारी सीजन को देखते हुए और यात्रियों की सुरक्षा को लेकर भारतीय रेलवे ने कोरोनावायरस गाइडलाइन की समय सीमा को 6 महीने के लिए बढ़ा दिया है। इस संबंध में रेलवे बोर्ड ने गुरुवार को कहा कि उसके परिसरों में मास्क नहीं लगाने वालों पर ₹500 का जुर्माना लगाने का प्रावधान जारी रहेगा। देश में कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों को अगले साल अप्रैल तक के लिए बढ़ा दिया गया है।

रेलवे ने एक आदेश में कहा है कि मास्क नहीं लगाने वाले लोगों पर जुर्माना लगाने के निर्देश को 6 महीने के लिए बढ़ा दिया गया है। बोर्ड ने 17 अप्रैल को एक आदेश जारी करके सभी जनों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि लोग ट्रेन समेत रेलवे परिसरों में भी मास्क लगाएं और चेहरे को ढके। आदेश में कहा गया था कि बिना मास्क के पकड़े गए शख्स पर रेलवे परिसर में स्वच्छता को प्रभावित करने वाले गतिविधियों के तहत ₹500 का अर्थदंड लगाया जाएगा।

बताते हैं कि भारत में त्योहारों का मौसम शुरू होने वाला है। ऐसे में लोग अपने घरों की वापसी करने के लिए काफी बड़ी संख्या में ट्रेनों का इस्तेमाल करते हैं। ट्रेनों और स्टेशनों पर भीड़ भार को देखते हुए रेलवे ने यह फैसला लिया है। रेलवे किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं करना चाहता है। रेलवे की कोशिश है कि स्टेशन परिसर और ट्रेन में लोग मास्क का प्रयोग करें ताकि कोरोनावायरस को बढ़ने से रोका जा सके।

स्पेशल ट्रेनों के फेरे बढ़ाए गए

त्योहारों को देखते हुए और ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ को देखते हुए रेलवे ने कई ट्रेनों के फेरे को बढ़ा दिया है। मुंबई रोड पर यात्री लोड सबसे अधिक होता है। इसको देखते हुए रेलवे ने मुंबई रूट पर चल रही अट्ठारह त्यौहार स्पेशल ट्रेनों का परिचालन 31 मार्च 2022 तक बढ़ा दिया है। दरभंगा, मंडुवाडीह, लखनऊ, गोरखपुर से कानपुर होकर मुंबई तक जाने वाली सभी ट्रेनें 2022 तक चलेंगी। इन सभी स्पेशल ट्रेनों का फेरा 31 अक्टूबर को समाप्त हो रहा था।

See also  पंजाब: 15 सितंबर तक सभी कर्मचारियों को लगाना होगा टीका, नहीं तो घर बैठना होगा