तालिबान सख्त, रास्ता ब्लॉक किया और चेकिंग प्वाइंट्स भी बनाए, कहा- किसी को देश नहीं छोड़ने देंगे

तालिबान ने अपना नया फरमान जारी किया है। तालिबान ने कहा है कि वह किसी भी अफगानी को देश छोड़ने नहीं देंगे। तालिबान का अफगानिस्ता में सख्त पहरा हो चुका है। लोग वहां से अपनी मर्जी से देश नहीं छोड़ सकते।

तालिबान प्रवक्ता मुजाहिद

Afghanistan Update: अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद दुनिया के कई देश अपने -अपने नागरिकों को निकालने में जुटे हैं। तालिबान का राज होने के बाद अफगान में लोगों की जिंदगी बदतर होती जा रही है।

अब तालिबान ने अपना नया फरमान जारी किया है। तालिबान ने कहा है कि वह किसी भी अफगानी को देश छोड़ने नहीं देंगे। तालिबान का अफगानिस्ता में सख्त पहरा हो चुका है। लोग वहां से अपनी मर्जी से देश नहीं छोड़ सकते। हालांकि अबतक कई अफगानी देश छोड़ चुके हैं।

तालिबान ने साफ-साफ चेतावनी दी है कि वह अब किसी भी अफगानी को देश से बाहर नहीं जाने देगा। तालिबान ने कहा है कि अफगान नागरिकों को काबुल एयरपोर्ट की यात्रा करने से रोका जाएगा, ताकि कोई भी अफगानी देश से बाहर ना जा सके।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए तालिबान के प्रवक्ता जबिउल्लाह मुजाहिद ने कहा कि अब हम किसी भी अफघानी नागरिकों को देश छोड़ने नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि यह रोक सिर्फ अफगानी नागरिकों पर है। विदेश नागरिक अपने-अपने देश जा सकते हैं।

मुजाहिद ने कहा कि हम अब अफगानों को यहां से निकालने की अनुमति नहीं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि यहां के रहने वाले शिक्षाविदों और डॉक्टरों को देश नहीं छोड़ना चाहिए। उन्हें अपने क्षेत्र में काम करना चाहिए। मुजाहिद ने कहा कि हाल के दिनों में काबुल एयरपोर्ट पर जमा लोगों को स्वदेश लौटना चाहिए।

तालिबान प्रवक्ता मुजाहिद ने वादा किया कि अफगान नागरिकों को तंग नहीं किया जाएगा। उन्हें तालिबान से प्रतिशोध का सामना नहीं करना पड़ेगा। बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबान का लगभग 95 फीसदी हिस्सों पर कब्जा हो चुका है। सिर्फ पंजशीर घाटी को नियंत्रण में लेने के लिए संघर्ष चल रहा है।

See also  पीएम मोदी और कमला हैरिस की बैठक में उठा आतंकवाद का मुद्दा, पाक को दिया गया कड़ा संदेश