तालिबान की चेतावनी, पंजशीर के बागियों को बख्शेंगे नहीं

तालिबान के प्रवक्ता ने कहा कि अभी अफगानिस्तान में एक अंतरिम सरकार का ही गठन किया जाएगा, जिसमें बाद में कई बदलाव हो सकते हैं। बता दें कि तालिबान के ही अलग-अलग गुटों में सत्ता के बंटवारे को लेकर मतभेद हैं।

तालिबान अंतरिम सरकार

लंबे समय के संघर्ष के बाद आखिरकार पंजशीर पर तालिबान का कब्जा हो गया है। ऐसा तालिबान के प्रवक्ता ने कहा है। हालांकि नॉर्दन एलायंस ने दावा किया है कि अभी भी पंजशीर उनके कब्जे में हैं और लड़ाई जारी है। इस बीच तालिबान ने उसके राज के खिलाफ विद्रोह करने वालों को चेतावनी दी है।

तालिबान के प्रवक्ता ने कहा कि अभी अफगानिस्तान में एक अंतरिम सरकार का ही गठन किया जाएगा, जिसमें बाद में कई बदलाव हो सकते हैं। बता दें कि तालिबान के ही अलग-अलग गुटों में सत्ता के बंटवारे को लेकर मतभेद हैं। यही वजह है कि फिलहाल अंतरिम सरकार ही बनाई जा रही है ताकि स्थायी सरकार के गठन के लिए वक्त मिल सके।

तालिबान प्रवक्ता के हवाले से रॉयटर्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पंजशीर घाटी में विद्रोहियों का नेतृत्व कर रहे पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह देश छोड़कर भाग गए हैं। तालिबान के प्रवक्ता ने दावा किया है कि अमरुल्लाह सालेह ताजिकिस्तान भाग गए हैं।

हालांकि इससे पहले कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि सालेह गुप्त ठिकाने में हैं और वहीं से लड़ाई का नेतृत्व कर रहे हैं। उनके अलावा पंजशीर के एक और नेता अहमद मसूद ने ट्वीट कर बताया है कि वे सुरक्षित हैं।

बता दें कि अमरुल्लाह साहेल ने हमेशा जंग जारी रखने और तालिबान के सामने सरेंडर न करने की बात कहते रहे हैं। हालांकि सालेह ने अपनी लोकेशन और पंजशीर के हालातों को लेकर कोई जानकारी अभी तक नहीं दी है।

See also  कोरोना कब होगा खत्म? इस दिग्गज वैक्सीन निर्माता कंपनी ने किया यह दावा