तालिबान के पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के भाई की बेरहमी से हत्या, गला काट बरसाईं गोलियाँ

यह घटना तालिबान की क्रूरता की तसवीर बयां करती है। रिपोर्ट है कि पहले उन्हें कोड़ों और बिजली के तार से पीटा गया उसके बाद गला काट दिया गया। बाद में तड़पते सालेह पर दनादन गोलियां बरसा दी गईं।

The brother of former Taliban Vice President Amrullah Saleh brutally murdered

तालिबान ने अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई रोहुल्लाह सालेह की हत्या कर दी है। तालिबान सूत्रों ने दावा किया कि रोहुल्लाह सालेह को पंजशीर घाटी में ही मौत के घाट उतार दिया गया। मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि रोहुल्लाह को तालिबानियों ने यातनाएं देने के बाद हत्या कर दी।

यह घटना तालिबान की क्रूरता की तसवीर बयां करती है। रिपोर्ट है कि पहले उन्हें कोड़ों और बिजली के तार से पीटा गया उसके बाद गला काट दिया गया। बाद में तड़पते सालेह पर दनादन गोलियां बरसा दी गईं।

बता दें कि 15 अगस्त को काबुल पर तालिबानी कब्जे के बाद राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर भाग गए थे। इसके बाद उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने खुद को राष्ट्रपति घोषित कर दिया। साथ ही उन्होंने पंजशीर के लड़ाकों के साथ मिलकर नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स के बैनर तले तालिबान के खिलाफ विद्रोह का बिगुल फूंका।

तालिबान ने कुछ दिनों पहले पंजशीर पर कब्जे का दावा भी किया था। तालिबान ने पाकिस्तानी वायुसेना के समर्थन से पंजशीर के दो बड़े नेताओं को मार दिया था। तालिबान ने नॉर्दर्न अलायंस के कमांडरों और विद्रोहियों के प्रवक्‍ता फहीम दश्‍ती और पंजशीर के शेर कहे जाने वाले जनरल अहमद शाह मसूद के भतीजे जनरल वदूद की हत्या कर दी थी।

See also  भारत के एक्शन के बाद झुका ब्रिटेन, कोविशील्ड लगवाने वालों को क्वारनटाइन नहीं करेगा