यूपी के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने छोड़ी बीजेपी, समाजवादी पार्टी में हुए शामिल

योगी आदित्यनाथ सरकार में श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य इस्तीफा देने के बाद समाजवादी पार्टी के दल में शामिल हो गए।

Swami prasad maurya

लखनऊ: योगी आदित्यनाथ सरकार में श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य इस्तीफा देने के कुछ ही मिनटों बाद उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले प्रमुख अखिलेश यादव की मौजूदगी में समाजवादी पार्टी के दल में शामिल हो गए।

सामाजिक न्याय और समानता के लिए लड़ने वाले लोकप्रिय नेता श्री स्वामी प्रसाद मौर्य जी और उनके साथ सपा में आए अन्य सभी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों का हार्दिक स्वागत और बधाई!

स्वामी प्रसाद मौर्य ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उनकी बेटी संघमित्रा मौर्य बदायूं से बीजेपी सांसद हैं।

अपने त्याग पत्र में उन्होंने कहा कि वह दलितों और समाज के कमजोर वर्गों के साइड लाइनिंग से परेशान हैं।

वह इसलिए परेशान थे क्योंकि उनके बेटे उत्कर्ष मौर्य को योगी आदित्यनाथ सरकार में “उपयुक्त रूप से समायोजित” नहीं किया गया था।

स्वामी प्रसाद मौर्य, जो कभी बहुजन समाज पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक थे, 2017 के विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा में शामिल हुए थे।

उन्होंने 2017 में भाजपा के टिकट पर पडरौना सीट जीती और उन्हें श्रम मंत्री बनाया गया।

स्वामी प्रसाद मौर्य के करीबी सूत्रों ने कहा कि संघमित्रा मौर्य “फिलहाल” भाजपा में रहेंगे।

स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफा दे दिया और समाजवादी पार्टी में शामिल होने की संभावना भाजपा के लिए एक बड़ा झटका है क्योंकि वह अपने समुदाय में लोकप्रिय हैं।

See also  Hanuman Chalisa controversy: नवनीत राणा, और उनके पति एफआईआर के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट गए