क्या है नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन? कैसे हर व्यक्ति इसका लाभ ले सकता है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की शुरुआत की। नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन यानी एनडीएचएम के लागू होने के बाद हर भारतीय को एक Unique Digital Health ID मिलेगी।

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन
नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की शुरुआत की। नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन यानी एनडीएचएम के लागू होने के बाद हर भारतीय को एक Unique Digital Health ID मिलेगी। इससे देश में एक हेल्थ सिस्टम तैयार करने में मदद मिलेगी।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते साल 15 अगस्त को लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य अभियान की पायलट परियोजना की घोषणा की थी। प्रारंभिक चरण में इस योजना को छह केंद्र शासित प्रदेशों में लागू किया गया था और अब इसे पूरे देश में शुरू किया गया है। इस योजना के पूरे देश में लागू होने के बाद लोगों देश में कही भी इलाज करवा सकेंगे।

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन को भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है। इससे न केवल मरीजों को बल्कि डॉक्टरों और शोधकर्ताओं को भी काफी फायदा होगा। डिजिटल होने की वजह से कागजी कार्रवाई से छुटकारा मिलेगा और प्रक्रिया आसान हो जाएगी।

राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (NDHM) को लॉन्च करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ’21वीं सदी में आगे बढ़ते हुए भारत के लिए आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण है। बीते 7 वर्षों से देश की स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने का जो अभियान चल रहा है, वो आज से एक नए चरण में प्रवेश कर रहा है।’

पीएम मोदी ने कहा कि आज से आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन भी पूरे देश में शुरु किया जा रहा है। ये मिशन देश के गरीब और मध्यम वर्ग के इलाज में जो दिक्कतें आती हैं, उन्हें दूर करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा। 3 साल पहले पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जयंती के अवसर पर पंडित जी को समर्पित आयुष्मान भारत योजना पूरे देश में शुरू हुई थी। मुझे खुशी है कि आज से आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन भी पूरे देश में शुरू किया जा रहा है।

See also  State Bank of India Offer: अगर आपका भी ऐसा अकाउंट है एसबीआई में तो मिलेगा 2 लाख रुपये!